आज के इस पोस्ट में हमलोग laptop buying guide hindi में देखेंगे, और ये जानने की कोसिस करेंगे की अपने लिए लैपटॉप खरीदने से पहले किन बातों का ध्यान रखे. Laptop kharidte samay kya kya dekhna chahiye, अगर आप जान जायेंगे तो आप अपने लिए एक सही लैपटॉप चुन पाएंगे। सारे laptops सभी के लिए नहीं होते है, अलग-अलग जरुरत के लिए अलग laptop होते है. किसी भी लैपटॉप को चुनने से पहले ये जान लीजिये की उसका use क्या होने वाला है. ये सबसे important step है. तो इस लैपटॉप बाइंग गाइड को शुरू करते है.

वीडियो कॉल कैसे करे?

आज के समय में लैपटॉप एक बहुत जरुरी गैजेट बन चूका है, इसका इस्तेमाल हर कोई करता है. आज के समय में तो स्मार्टफोन laptop के कुछ कामो को अच्छे से कर सकता है. लेकिन लैपटॉप की जगह लेना अभी भी स्मार्टफोन नहीं कर पाया है. अभी के समय में लैपटॉप स्टूडेंट्स, corporates और gamers के लिए बहुत जरुरी है, इसका इस्तेमाल एंटरटेनमेंट के लिए भी किया जाता है. और सबसे अच्छी बात ये है की laptops की कमी नहीं है, आपको हर तरह के लोगो के लिए लैपटॉप मिल जायेगा आसानी से.

Laptop kharidte Samay kya kya dekhna chahiye

लेकिन लैपटॉप का सही चुनाव करना बहुत confusing होता है. लेकिन आज के इस लैपटॉप बाइंग गाइड में हम जाएंगे Laptop kharidte samay kya kya dekhna chahiye, और इसके मदद से हमलोग right choice ले सकते है, और अपने पैसो का सही इस्तेमाल कर सकते है.

इस प्रोसेस का सबसे पहला स्टेप ये है की- आप लैपटॉप ले क्यों रहे है?

लैपटॉप चुनने में सबसे बड़ा प्रॉब्लम ये है की- लैपटॉप बहुत सारे कॉन्फ़िगरेशन, मॉडल्स, manufacturers से आते है, तो ये थोड़ा मुश्किल हो जाता है सही लैपटॉप चुनना। लेकिन अगर आप कुछ बेसिक चीज़े जान जाये तो, सही लैपटॉप का चुनाव करना आसान हो जायेगा.

Best laptop under 50000

Laptop kharidte Samay kya kya dekhna chahiye

तो laptop buying guide in Hindi को शुरू करे है, और Laptop kharidte Samay kya kya dekhna chahiye, वो जानने की कोसिस करते है.

  • जरुरत(use)
  • प्रोसेसर
  • ग्राफ़िक्स कार्ड
  • RAM
  • Connectivity और ports
  • Display
  • Storage
  • वजन
  • बैटरी
  • upgradebility
  • warrenty

ऊपर दिए सारे चीज़ो का ध्यान रखना है, लैपटॉप खरीदते समय. अब हम एक-एक कर डिटेल में जानने की कोसिस करते है.

तो इसमें सबसे पहले आता है- जरुरत(USE), तो इसे समझने की कोसिस करते है.

Use(जरुरत/काम)

इसमें सबसे पहला काम ये करना है की, आपको ये जानना है की आप लैपटॉप क्यों खरीद रहे है? आप जो लैपटॉप खरीदेंगे उसका क्या इस्तेमाल होगा, तभी तो आप ये decide कर पाएंगे की कौन-सा लैपटॉप लेना है.

क्या आप एक स्टूडेंट है, casual use के लिए ले रहे है या फिर आप एक gamer है, ठीक इसी तरह और दूसरे use case हो सकते है. जब आप ये decide कर लेंगे की इसे आप क्यों ले रहे है, ये बहुत ज्यादा मदद करेगा लेने में.

अब आपने ये decide कर लिया है की आप लैपटॉप क्यों ले रहे है, तो अब हमलोग specification decide करने की कोसिस करेंगे। एक बात ध्यान में रखे की आप जितना अच्छा specs चाहेंगे, pricey वो लैपटॉप होगा। लैपटॉप बाजार में बाहत सारे hardware configuration के साथ मिलेंगे, तो अब हमे ये decide करना है की चाहिए क्या?

प्रोसेसर

तो अब प्रोसेसर के बारे में जान लेते है, अगर आप लैपटॉप घर के use या फिर casual use के लिए ले रहे है तो current generation का core i3 more than enough रहेगा, casual use का मतलब ये हुआ की आप लैपटॉप का इस्तेमाल browsing, वीडियो देखने के लिए और lite software के लिए use करना। अगर आपको इतना काम करना है, तो आप core i3 current generation processor के साथ जा सकते है.

अगर आप स्टूडेंट(engineering) है तो, जाहिर सी बात है आप थोड़े बहुत गेम खेलेंगे और programming भी कर सकते है, तो इस कंडीशन में आप i5 प्रोसेसर के साथ जा सकते है. इस प्रोसेसर के साथ आप थोड़े बहुत गेम खेल पाएंगे, और intensive software का इस्तेमाल आप बिलकुल सही से कर पाएंगे। अगर आप इससे भी अच्छी performance चाहते है तो आप core i7 और i9 प्रोसेसर ले सकते है, ये दोनों प्रोसेसर top-line के प्रोसेसर है, लेकिन इनकी परफॉरमेंस भी टॉप लेवल की है और इनकी प्राइस भी, अपने बजट का भी ध्यान रखे.

आप i7 और i9 तभी ले जब आपको ज्यादा CPU intensive काम करना, नहीं तो आप पहले दो प्रोसेसर के साथ जा सकते है.

अब इसी के साथ अगले component graphics card के बारे में बात कर लेते है.

Graphics Card

इस लिस्ट में अगले नंबर पर आता है, GPU/graphics card. अगर आप एक casual user है, तो आपको उसके बारे में सोचने की जरूरत ही नहीं है. इसका काम आपका CPU कर देगा, क्यूको प्रोसेसर में integrated GPU भी होते है.

लेकिन अगर आप rendering software(video editing) use करते है, या फिर gamer है, तो आपको एक dedicated GPU की जरुरत पड़ेगी। अगर आप अच्छे graphics पर गेम खेलना चाहते है या फिर आप अच्छे से video render करना चाहते है.

एक ध्यान रखे की अगर आप अपने लैपटॉप में GPU चाहते है, तो आप अपने pocket को भी tight रखे, क्युकी यहाँ आपको पैसे खर्च करने पड़ेंगे। NVIDIA के graphics card बहुत अच्छे होते है, अच्छा होने का मतलब महंगा भी होता है. अगर आप ठीक-ठाक लेवल की रेंडरिंग और गेमिंग करना चाहते है, तो आपको कम से कम GTX 1650ti लेना ही चाहिए।

वैसे आप अपना बजट देख ले, आप जितना अच्छा GPU लेंगे उतना अच्छा परफॉरमेंस मिलेगा और उतनी ही अच्छी कीमत भी लगेगी। तो ये तो बात हुई graphics card की, अब हम अपने अगले कॉम्पोनेन्ट RAM के बारे में जान लेते है.

RAM

अभी के समय में आप कोई भी लैपटॉप ले, उसमे कम से कम 8GB RAM तो होना ही चाहिए, आप 4GB RAM के साथ भी जा सकते है लेकिन मेरी recomendation यही है की आप कम से कम 8GB RAM जरूर ले.

अगर आप smooth multi-tasking चाहते है तो, RAM आपकी मदद करेगा, एक साथ कई application खोलने में. 8GB RAM लेने के लिए इसलिए बोल रहा हूँ, क्युकी इस आप आराम से गेमिंग भी कर पाएंगे। अगर आपको ये बात समझ नहीं आ रही है तो बस आपको ये ध्यान में रखना है की 8GB RAM लेना है. अगर आपको और अच्छी लेवल की गेमिंग चाहिए तो आप 16GB RAM के साथ जा सकते है.

अब हमलोग अपने अगले point की बात कर लेते है और वो है, Conectivity और ports.

Conectivity और ports

आमतौर पर गेमिंग लैपटॉप मोटे होते है, लेकिन उनमे ports की कमी नहीं होती है. अगर आपको पतला और compact लैपटॉप चाहिए तो आपको ports के मामले में थोड़ा बहुत compromise करना पड़ सकता है.

अगर मैं अपने लैपटॉप की बात करू तो, इसमें हर तरह के पोर्ट्स है, जैसे की USB के 3 पोर्ट्स, HDMI out, SD card reader 3.5mm जैक और ethernet port. लेकिन मेरा लैपटॉप मोटा है.

अगर आप अपने लैपटॉप को बड़े डिस्प्ले या फिर TV के साथ कनेक्ट करना चाहते है तो, आपके HDMI port की जरुरत पड़ेगी। लेकिन आप जो भी लैपटॉप ले उसमें कम से कम Type A USB port, 3.5mm jack होना ही चाहिए, ये compulsory है.

पतले laptops में आपको ethernet port, HDMI और SD Card Reader generally नहीं होते है. लेकिन अगर आपके laptop में ethernet port नहीं है तो आपको कम से कम एक अच्छे standard का Wi-fi होना चाहिए जैसे की- 802.11ac wifi. अगर आप अपने लैपटॉप में bluetooth device कनेक्ट करना चाहते है तो उसमे bluetooth भी होना चाहिए।

तो ये कुछ ports और connectivity options है, जिनको आपको ध्यान में रखना है लैपटॉप लेते समय. अब हमलोग अपने अगले क्राइटेरिया के बारे में बात कर लेते है.

डिस्प्ले

जो कॉम्पैक्ट लैपटॉप होते है, generally उनका screen resolution 1368×768 होता है, जो कम है. लेकिन ये casual use के लिए ठीक है. लेकिन अगर आप जब भी लैपटॉप ले तब आप कम से कम Full HD display ले. आप अपने बजट और जरुरत के अनुसार इससे ऊपर का भी डिस्प्ले ले सकते है.

बाजार में आपको बहुत सारे 4k डिस्प्ले वाले लैपटॉप मिल जायेंगे, लेकिन वो महंगे भी होंगे और power hungry भी. इन सब के अलवा आप screen refresh rate भी देख ले, लेकिन एक बात और अगर आप casual use के लिए लैपटॉप ले रहे है तो, refresh rate matter नहीं करता है. लेकिन gaming के लिए refresh rate matter करता है. जय्दादातर लैपटॉप 60Hz रिफ्रेश रेट के साथ आते है.

अगर आप ऐसा लैपटॉप ले रहे है, जिसमे dedicated GPU है तो आप उसमे AMD FreeSync और NVIDIA G-Sync का support है या नहीं, ये दोनों टेक्नोलॉजी screen refresh के लिए काम करते है.

तो ये कुछ बातें थी जिनको डिस्प्ले में ध्यान रखना चाहिए। अब हम अगले चीज़ के बारे में जान लेते है, जो laptop lene se pahle kya dekhe में जरुरी है.

Storage

इसको सेलेक्ट करने करने में ज्यादा दिक्कत नहीं आती है. अगर आप ऐसे व्यक्ति है, जिसको बहुत सारा स्टोरेज चाहिए, या फिर आप ऐसे आदमी है जो अपने लैपटॉप में बहुत फाइल्स और वीडियो को स्टोर करने वाले है, तो आप high capacity HDD(हार्ड डिस्क ड्राइव) के साथ जा सकते है, जैसे की 1tb.

अगर आप चाहते है की आपका लैपटॉप जल्दी से boot हो जाये और आपके applications जल्दी से लोड हो जाये तो आप SSD के साथ आने वाले लैपटॉप को ले सकते है, बहुत ऐसे लैपटॉप होते है, जिनमे आपको दोनों मिल जायेगा। आप ऐसा लैपटॉप भी ले सकते है जिसमे low capacity SSD हो और high capacity HDD हो.

ये ऑप्शन totally आपके प्रेफरेंस पर depend करता है. Casual user बिना SSD वाला लैपटॉप ले सकते है, कोई दिक्कत की बात नहीं है.

वजन

generally लैपटॉप पोर्टेबल होना चाहिए, मतलब की लैपटॉप ऐसा होना चाहिए जिसे आराम से एक जगह से दूसरे जगह ले जाया सके. लेकिन ये बात हमेशा सही होता है, कुछ gaming laptop काफी वजनदार होते है.

लेकिन कुछ ऐसे gaming laptop भी है, जिनका वजन 2-5kg के बीच होता है, लेकिन फिर भी ये वजनदार है. औरकुछ non gaming laptop अच्छे परफॉरमेंस भी देते है और उनका वजन 2kg के निचे होता है, जिसे carry करना बहुत इजी होता है. casual use वाले laptop generally हलके होते है. वजन के मामले में decide करते समय ये ध्यान रखे की, क्या आपको लैपटॉप के साथ ज्यादा travel/carry करना है, फिर इसे decide करे.

अब हमलोग सबसे जरुरी चीज़ battery के बारे में बात कर लेते है.

Battery

ये चीज़ उनलोगो के लिए ज्यादा जरुरी है, एक बार चार्ज करने के बाद उसे ज्यादा देर तक उसे use करने वाले है. ये बहुत जरुरी है उनलोगो के लिए जो लोग अपने लैपटॉप के साथ ट्रेवल ज्यादा करते है.

जो laptop बिना dedicated GPU के साथ आते है वो इस मामले सबसे अच्छे होते है, GPU power hungry होता है, और आप अगर casual use वाला लैपटॉप लिए है तो यहाँ पर आपको ज्यादा सोचने की जरुरत नहीं है। ऐसे laptops आराम से 6 घंटे का battery backup दे देंगे।

लेकिन अगर आप एक gaming laptop ले रहे है, जिसमे dedicated GPU है तो आपको battery के बारे में नहीं सोचना चाहिए, अच्छे से अच्छा लैपटॉप भी अच्छा बैकअप नहीं दे पायेगा। ये आपको ज्यादा से ज्यादा 2-3 घंटे का ही बैकअप दे पाएंगे।

अब हमलोग अपने अगले ऑप्शन के बारे में बात कर लेते है.

Upgradebility

वैसे तो ये ऑप्शन ज्यादा matter नहीं करता है. अगर आप लैपटॉप casual use के लिए ले रहे है तो, इस बारे में ध्यान देने की जरुरत नहीं है. अगर लैपटॉप लेने के बाद उसे upgrade नहीं करना चाहते है तो, इस condition में भी आपको इसके बारे में नहीं सोचना है.

लेकिन अगर आप future में upgrade करना चाहते है तो, आपको ये option ध्यान में रखना चाहिए। अगर upgradability का option मिलता है, तो हो सकता है की आपको नया लैपटॉप न खरीदना पड़े, पुराने वाले से ही काम चल जाये, लेकिन एक बात और ध्यान रखे की इससे आप jyada उम्मीद न रखे, क्युकी आप आमतौर पे RAM और storage को upgrade कर पाएंगे। अगर आप सोच रहे है की, आप फ्यूचर में प्रोसेसर और graphics card भी upgrade कर लेंगे, तो ऐसा पॉसिबल नहीं है.

अब हमलोग अपने अंतिम टॉपिक के बारे में बात कर लेते है.

Warranty

हर तरह के लैपटॉप के साथ 1 साल का warranty तो मिलता ही है. अगर आप चाहे तो इसे extend भी करवा सकते है, warranty को एक्सटेंड करने के अपने फायदे है, आप समझ गए मैं क्या कहना चाहता हूँ. Warranty extend करने के लिए आपको एक्स्ट्रा पे करना पड़ेगा।

तो इसे के साथ इस ब्लॉग पोस्ट को एन्ड करते है. उम्मीद है, की आपको आपके सवालो के जवाब जरूर मिल गए होंगे। लेकिन फिर भी कोई सवाल है तो, निचे कमेंट में जरूर पूछे। आप चाहे तो हमारे टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन कर सकते है.

Laptop kharidte Samay kya kya dekhna chahiye- END


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *