Poultry Farming in Hindi, Murgi palan kaise kare? 7 कदम

एग्रीकल्चर से जुड़ा बिज़नेस आजकल भारतीय बाजार में बहुत अच्छा कर रहे है, ये एक ऐसा बिज़नेस फील्ड है, जो हमेशा रहेगा कभी खत्म नहीं होगा। इंडियन मार्किट में पोल्ट्री फार्मिंग बिज़नेस बहुत तेज़ी से ग्रो करने वाला बिज़नेस है और साथ में ये बहुत ज्यादा फायदेमंद भी है.आज इस पोस्ट में हमलोग Poultry Farming in Hindi

में जानने वाले है, आमतौर पर इसे मुर्गी पालन के नाम से भी जाना जाता है.

अगर आप एग्रीकल्चर से जुड़ा कोई बिज़नेस करना चाहते है और उसमे सफल होना चाहते है तो, आपको पोल्ट्री फार्मिंग बिज़नेस जरूर शुरू करना चाहिए।

Poultry Farming meaning in Hindi– इस बिज़नेस में कमर्सिअली घरेलु चिडयों को बड़ा किया जाता है, मीट, अंडा और पंख के लिए. जिसे बाद में बाजार में बेच दिया जाता है.

ये बिज़नेस फायदेमंद तो है, लेकिन बहुत सारे लोग इस बिज़नेस में फेल हो जाते है, इसका सबसे बड़ा कारण है, सही जानकारी की कमी होना और इस बिज़नेस को करने का तरीका नहीं मालूम होना।

भारतीय बाजार में ये बिज़नेस बहुत समय से है, ये कोई नया बिज़नेस नहीं है, लेकिन इसमें नए तकनीक का इस्तेमाल जरूर किया जाता है. जिसके कारण आप इस बिज़नेस में फायदा कमा सकते है. इस पोस्ट में हमलोग इस बिज़नेस के बारे में बहुत बारीकी से जानने वाले है.

सबसे पहले हमलोग तो ये जानने की कोसिस करेंगे की murgi palan business शुरू करने के फायदे क्या है, या हमे इस बिज़नेस को क्यों शुरू करना चाहिए?

Murgi Palan बिज़नेस शुरू करने के फायदे

Poultry business के बहुत फायदे है, जिसके कारण बहुत सारे किसान इस बिज़नेस में निवेश करते है. कुछ फायदे निचे बताया गया है-

  • कम निवेश- इस बिज़नेस का सबसे बड़ा फायदा ये है की, इसमें आपको बहुत कम पूंजी का निवेश करना पड़ता है. इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए बहुत ज्यादा निवेश की जरुरत नहीं होती है. और इसमें जिन चिड़ियों को बड़ा किया जाता है जैसे की- चिकन और मुर्गी, वो बहुत महंगे नहीं होते है.
  • बड़े जगह की जरुरत नहीं होती है- पोल्ट्री फार्मिंग शुरू करने के लिए किसी बड़े जगह की जरुरत नहीं होती है, बाद में बिज़नेस बढ़ने के बाद आप बड़े जगह पर शिफ्ट हो सकते है. अगर आपके पास थोड़ा जमीन है तो उसमे आप आराम से इस बिज़नेस को शुरू कर सकते है.
  • कम समय में ज्यादा मुनाफा- इसमें एक और फायदा ये है की, यहाँ से आप बहुत कम समय में बहुत ज्यादा मुनाफा कमा सकते है. बायलर चिकन बारे होने में बहुत कम समय लेते है, जिसके कारण इनसे मुनाफा ज्यादा और जल्दी होता है. इस बिज़नेस में जितने भी सामान इस्तेमाल किया जाता है, वो सभी बहुत सस्ते होते है.
  • बहुत ज्यादा मेंटेनेंस की जरुरत नहीं होती है- फार्म में यूज़ किये जाने वाले स्ट्रक्चर को बहुत ज्यादा मेंटेनेंस की जरुरत नहीं होती है. अगर आप सही तरीके से चिड़ियों का ध्यान रखेंगे तो उनको किसी तरह की बीमारी भी नहीं होगी।
  • लाइसेंस जरुरी नहीं है- ज्यादातर मुर्गी पालन बिज़नेस को शुरू करने के लिए लाइसेंस की जरुरत नहीं पड़ती है. क्युकी poultry फार्म में पाले जाने लगभग सभी चिड़या घरेलू होते है. अगर इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए अगर लाइसेंस की जरुरत पड़ी कभी तो लाइसेंस मिलना काफी आसान होता है.
  • इसका डिमांड ग्लोबल है, मतलब की विदेशो में भी है, हालाँकि शरुवात में आपको इस बात पर ध्यान नहीं देना है.
  • मार्केटिंग- मार्केटिंग की बात की जाये तो, इस बिज़नेस के प्रोडक्ट को मार्किट करना बहुत आसान होता है. इसको तो मार्किट करने की जरुरत भी नहीं पड़ती। इसको आप अपने लोकल में मार्किट में बेच सकते है. पोल्ट्री से जुड़े प्रोडक्ट के लिए पहले से ही बना-बनाया बाजार है.
  • किसी भी तरह के बिज़नेस को शुरू करने से पहले, उस रोज़गार को शुरू करने की लागत होने वाली कमाई के बारे में जरूर जानना चाहिए। आपके पोल्ट्री फार्म से जो भी उत्पादन होगा उसकी मांग पूरी साल बानी रहती है. चूजे 4 महीने में अंडे देने लायक होते है. अगर आप छोटे स्तर पर इस बिज़नेस को शुरू करते है तो, शुरू के चार महीने के बाद से हर महीने 15000 रुपये की आमदनी होने लगेगी सिर्फ अंडो से. आप अपने फार्म से मुर्गो को भी बेच सकते है, जिसकी आमदनी अलग होगी। ये पूरी तरह से मुनाफा वाला बिज़नेस है.

ये कुछ फायदे है, इस बिज़नेस को शुरू करने का. अब ये जानते है की, murgi palan kaise kare? Poultry farming in Hindi का मतलब तो हमलोग समझ चुके है अब जानते है की पोल्ट्री फार्मिंग बिज़नेस शुरू कैसे करे?

अब हमलोग 7 ऐसे कदम के बारे में जानने वाले है, जिसको फॉलो कर आप आसानी से इस मुर्गी पालन बिज़नेस को शुरू कर सकते है.

Murgi Palan kaise kare?

पोल्ट्री फार्मिंग शुरू करने के लिए आप निचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते है. इस बिज़नेस को आप देसी मुर्गी पालन बिज़नेस के तौर पर भी शुरू कर सकते है.

पोल्ट्री सेक्टर चुने

सबसे पहले आप ये जान लें की पोल्ट्री फार्मिंग एक बहुत बड़ा इंडस्ट्री है. आमतौर पर इसमें दो तरह की फार्मिंग होती है- ब्रॉयलर्स और लेयर्स, इनमे से आप कोई भी चुन सकते है. ब्रॉयलर्स चिकन होते है जिसे मीट के लिए बड़ा किया जाता है. लेयर्स ऐसे चिकन होते है जिसे अंडे के लिए बड़ा किया जाता है.

चिकन फार्मिंग के भी बहुत सारे सेक्टर है, आप चाहे तो सभी सेक्टर में काम कर सकते है या किसी selected सेक्टर में भी काम कर सकते है. लेकिन अगर आप बस शुरुवात कर रहे है तो, बस एक या दो सेक्टर से शुरू करे. निचे में मैंने कुछ सेक्टर्स के नाम दिए है, जिससे आप शुरुवात कर सकते है-

  1. मीट का उत्पादन
  2. अंडा का उत्पादन
  3. पोल्ट्री फीड प्रोडक्शन
  4. चिकन पालना
  5. अंडा और मीट का प्रोसेसिंग

जब आपने अपना सेक्टर चूज़ कर लिया है तो अब बारी है, चिड़ियों का प्रकार चुनने की.

चिड़ियों का प्रकार चुने

आप अपने फार्म में बहुत सारे प्रकार के चिड़ियों को पाल कर बड़ा कर सकते है. अगर आप शुरुवात कर रहे है तो, आपको बस 2-3 प्रकार के चिड़ियों से शुरू करना चाहिए, अगर एक चिड़िया से करते है तो, काफी अच्छा रहेगा। बाद में जब बिज़नेस बड़ा होता है तब आप और भी दूसरे प्रकार के चिड़ियों को रख सकते है.

आमतौर पर आप अपने मुर्गी फार्म में, ब्रॉयलर्स और लेयर्स चिकन रख सकते है, आप चाहे तो बत्तख भी रख सकते है. अगर आप चाहे तो अपने फार्म में अंडा का भी उत्पादन कर सकते है.

आपको अपने चिकन फार्म में देसी मुर्गी का पालन भी करना चाहिए। देसी मुर्गी का इस्तेमाल अंडा और मांस दोनों के लिए किया जा सकता है. आप जिस प्रकार के पक्षी अपने फार्म में रखेंगे उसी हिसाब से आपको चूजे भी खरीदने होंगे।

चूजे इस बिज़नेस का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है, इसके बिना इस बिज़नेस को चलना संभव नहीं है. आप जहां से भी इसे ख़रीदे आपको एक बात का रखना है की, ये चूजे किसी भी तरह के बीमारी से ग्रसित न हो. आमतौर पर एक चूजे की कीमत 30-35 रुपये तक होती है. यानि 100 चूजों की कीमत 3000-3500 रुपये तक हो सकती है.

फार्म की जगह

याद रहे की फार्म लोकेशन सही जगह पर होना चाहिए, और आपके लोकेशन पर हर तरह की सुविधा भी उपलब्ध होना चाहिए है ताकि काम करने में कोई दिक्कत न आये.

आप कोसिस करे की अपना मुर्गी फार्म शहर से थोड़ा बाहर लगाए जहां आपको ज़मीन और काम करने वाले लोग सस्ते में मिल जाये। लेकिन आपको शहर से ज्यादा दूर नहीं जाना है. क्युकी आपको अपना माल शहर में ज्यादा बेचना है. अगर आप दूर रहेंगे तो आपको ट्रांसपोर्टेशन कॉस्ट ज्यादा रहेगा।

अगर आप ये जानना चाहते है की, आपको कितना जमीन लेना होगा तो, ये इस बात पर डिपेंड करता है की आप किस स्तर पर मुर्गी पालन करेंगे। अगर आप 150 मुर्गियों तक का पालन करेंगे तो आपको 150-200 फ़ीट तक में काम हो जायेगा। आपको फार्म हवादार भी होना चाहिए, इससे मुर्गिया बीमारियों सुरक्षित रहेंगी, लेकिन उन्हें आपको जानवरो से भी सुरक्षित रखना होगा।

हो सकता है की, आपको NOC(No objection certificate) की जरुरत पड़े. कई शहर में मुर्गी पालन खोलने के लिए आपको परमिशन की जरुरत पड़ती जो आप नगर निगम ऑफिस में जाकर पता कर सकते है.

पैसो का इंतज़ाम

हो सकता है की, फार्म शुरू करते वक़्त आपके पास पैसे न हो. लेकिन आप ये बात समझ लें की आपको इस बिज़नेस को चलाने और शुरू करने दोनों के लिए पैसे की जरुरत पड़ेगी। इसमें सबसे ज्यादा पैसा आपको जमीन(जगह) में लगाना पड़ेगा, अगर आपके पास जमीन है तो, आप बहुत पैसे बचा सकते है. आपको ज़मीन खरीदना नहीं है, आप ज़मीन या जगह लीज पर ले सकते है.

इसमें अगर निवेश की बात की जाये तो, ये इस बात पर डिपेंड करेगा की आप किस स्केल पर अपने फार्म ऑपरेशन रखने वाले है. आम तौर पर आप इस बिज़नेस को 50000-150000 रुपये में शुरू कर सकते है. आप इस बात का हमेशा ध्यान रखे की, आपको शुरुवात छोटे से ही करना है.

पैसो का इंतज़ाम के लिए आप बैंक लोन ले सकते है, इस तरह के बिज़नेस के लिए बैंक से आसानी से लोन मिल जाता है.

तो कुछ इस प्रकार से आप पोल्ट्री फार्मिंग शुरू कर सकते है. अब मैं आप लोगो को इस बिज़नेस को बढ़ाने के लिए कुछ ऐसे ट्रिक्स बताने वाला हूँ, जो आपको बहुत मदद करने वाली है. इन ट्रिक्स का इस्तेमाल कर आप, अपने सेल्स को बढ़ा सकते है.

मुर्गी पालन बिज़नेस ट्रिक

  1. आप अपने इस बिज़नेस को वेब पर जरूर डाले। अगर आप शहर में काम कर रहे है तो, आपको इसका बहुत फायदा होगा। होता ये है की, लोग शहर में बाजार निकलने से पहले वो एक गूगल पर जरूर सर्च करते है, की उनको जो सामान चाहिए उनसे जुड़े शॉप्स कहा है. ऐसे में अगर आपका शॉप ऑनलाइन दिख जायेगा तो आपको सेल्स बढ़ने में जरूर मदद मिलेगी। अगर आपको वेबसाइट बनाना नहीं आता है तो, आप किसी दूसरे से बनवा सकते है, या खुद यूट्यूब से सीखकर बना सकते है, आज के समय में वेबसाइट बनाना को बड़ी बात नहीं है.
  2. आप कोसिस करे की मीट का उत्पादन भी करे अपने फार्म से, इससे आप मल्टीप्ल इनकम सोर्स बना सकते है.
  3. आप अपना खुद का शॉप भी खोल सकते है, इससे आपको अपने प्रोडक्ट को बेचने में काफी आसानी होगी।
  4. आप चाहे तो होम डिलीवरी सर्विस दे सकते है, इसके लिए पहले आपको अपने कस्टमर का भरोसा जीतना होगा।

मुर्गी पालन ट्रेनिंग

अगर आपको poultry farming से जुड़ी ट्रेनिंग चाहिए तो आप, अपने जिला के कृषि विज्ञान केंद्र पर जाकर ट्रेनिंग के लिए अप्लाई कर सकते है. अगर आपको अपने जिला विशेष की जानकारी चाहिए तो आप केंद्रीय पक्षी अनुसन्धान केंद्र के हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर जानकारी हासिल कर सकते है. या आप चाहे तो भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के वेबसाइट पर जाकर जानकारी हासिल कर सकते है.

How to start poultry farming in India in Hindi?

भारत में पोल्ट्री फार्मिंग शुरू करने के लिए आपको 50 हज़ार रूपये से लेकर 150000 रुपये तक का निवेश करना पड़ सकता है. इसके लिए आपको एक जगह की ज़रूरत पड़ेगी जहां पर आप चिड़ियों और अंडो का उत्पादन करेंगे।

What is poultry farming in Hindi?

पोल्ट्री फार्मिंग में घरेलु चिड़ियों को पाल कर बड़ा किया जाता है, जिससे बाद में मीट और अंडा का उत्पादन किया जा सकता है, खाने के लिए.

तो आज के इस पोस्ट में हमने जाना poultry farming in Hindi और मुर्गी पालन कैसे करे? अगर आप एक युवा है या किसान तो आप मुर्गी पालन का बिज़नेस शुरू कर सकते है, ये एक ऐसा बिज़नेस है, जो कभी खत्म नहीं होने वाला है. मुर्गी पालन मुनाफा वाला बिज़नेस है, इसमें निवेश भी कम करना होता है, अगर पैसो को कमी है तो बैंक से कम दर पर लोन भी मिल जाता है.

अगर ये पोस्ट अच्छा लगा तो, आप इस पोस्ट को दुसरो के साथ जरूर शेयर करे, इसी के साथ आप चाहे तो हमारे टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन कर सकते है.

Leave a Comment